नकली दवाइयों से फसल नष्ट जहरीली दवा छिड़कने से हजारों बीघा में सोयाबीन खराब हुई,आर्थिक मुआवजे की मांग

नकली दवाइयों से फसल नष्ट जहरीली दवा छिड़कने से हजारों बीघा में सोयाबीन खराब हुई,आर्थिक मुआवजे की मांग

खबर लाइव राजस्थान कोटा, जिले के कैथून कस्बे के किसानों ने जहरीली दवा छिड़कने से फसल खराब होने के आरोप लगाते हुए कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। अखिल भारतीय किसान सभा की अगुवाई में क्षेत्र के किसान खराब फसल को लेकर पहुंचे और धरने पर बैठ गए। किसानों का आरोप है कि खेत में कचरा नष्ट करने के लिए दवा खरीदी थी। जिसको उपयोग में लेते ही सोयाबीन की फसल खराब हो गई। किसानों ने व्यापारी पर नकली दवाई देने के आरोप लगाए। किसानों ने आर्थिक मुआवजा देने, कम्पनियों को बेन करने की मांग की।
अखिल भारतीय किसान सभा के जिला अध्यक्ष दुलीचन्द बोरदा ने कहा कि हाड़ौती क्षेत्र में कम्पनियों ने नकली व जहरीली दवाइयां व्यापारियों के जरिए बेची है। इन दवाओं के छिड़काव से हजारों बीघा जमीन सोयाबीन व उड़द की फसल बर्बाद हो चुकी। कोई जवाबदेह नहीं है। इन दवाओं के पक्के बिल भी नहीं है।व्यापारियों के पास लाइसेंस नहीं है।उसके बाद भी धड़ल्ले से दवाई बेची जा रही है।ये सारा खेल अधिकारियों की मिलीभगत से चल रहा है। कैथून क्षेत्र के कई किसानों की सोयाबीन की फसल बर्बाद हो गई। दुलीचंद ने कहा कि किसानों को आगे की फसल करने के लिए बिना ब्याज के कर्ज दिलाया जाए। जो कम्पनियां नकली दवाइयां बेच रही है, जो दुकानदार बिना लाइसेंस के दवा बेच रहे है, उनपर बेन लगाया जाए।

Rajesh Danger


Posted

in

by

Tags: